Article Details

भारत-भूटान सम्बन्धों पर चीन का प्रभाव एवं भारत के सुरक्षा हित | Original Article

Vijendra Singh*, in Journal of Advances and Scholarly Researches in Allied Education | Multidisciplinary Academic Research

ABSTRACT:

भूटान की भारत एवं चीन दोनों के साथ एक लम्बी सीमा लगती है। इसके बावजूद भारत-भूटान सम्बन्धों में जो गहराई है वह चीन-भूटान सम्बन्धों में नहीं दिखाई देती है। भारत एवं भूटान के बीच की नजदीकी दोनों देशों की भौगोलिक, राजनैतिक एवं आर्थिक कारणों से भी है। भारत - भूटान सम्बन्ध मुख्य रूप से 1910 के ब्रिटिश-भारत एवं भूटान समझौते, 1949 की भारत-भूटान संधि एवं भारत-भूटान मित्रता संधि 2007 के द्वारा संचालित होते रहे हैं। भारत एवं चीन दोनों को स्त्रातेजिक एवं सुरक्षा कारणों से भूटान की महती आवश्यकता है। वर्तमान में भूटान में दोनों देश दौड़ लगाना चाहते हैं, जिसमें किसी एक के प्रभाव में वृद्धि दूसरे के अपने हितों के प्रतिकूल प्रतीत होती है।